World news story

2018-19 के चेवेनिंग स्कॉलरशिप कार्यक्रम की शुरूआत

भावी लीडर्स के लिए ब्रिटेन की सबसे प्रतिष्ठित स्कॉलरशिप के ऑफर का लाभ उठाने और 2500 सदस्यों की मजबूत भारतीय एलुमिनाई (पूर्व छात्र) में शामिल होने का अवसर।

Chevening

यूके के प्रतिष्ठित और पूरी तरह से वित्त पोषित चेवेनिंग स्कॉलरशिप और फेलोशिप के लिए आवेदन विंडो अब खुल गई है।

चेवेनिंग द्वारा दुनिया भर के भावी लीडरों, मार्गदर्शकों और निर्णयकर्ताओं को व्यावसायिक और शैक्षिक दृष्टि से विकसित होने, नेटवर्क को बढ़ाने, ब्रिटेन की संस्कृति को अनुभव करने, और ब्रिटेन के साथ स्थायी सकारात्मक संबंधों का निर्माण करने का अनोखा अवसर प्रदान किया जा रहा है।

चेवेनिंग इंडिया कार्यक्रम दुनिया का सबसे बड़ा कार्यक्रम है जिसके द्वारा इस साल 120 पूर्ण वित्त पोषित स्कॉलरशिप और फेलोशिप की पेशकश की जा रही है। इंडियन चेवेनिंग एलुमिनाई में लगभग 2500 लोग शामिल हैं।

9 अगस्त को औपचारिक उद्घाटन से पहले भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त सर डोमिनिक एस्क्विथ ने कहा:

चेवेनिंग कार्यक्रम में चुने गए लोग प्रेरकों और नेतृत्व क्षमता वाले ग्लोबल नेटवर्क में शामिल होंगे। स्कॉलर्स को न केवल अपने करियर को बेहतर बनाने के लिए बेहतरीन ब्रिटिश शिक्षा मिलेगी, बल्कि वो ब्रिटेन और भारत के बीच लोगों और विचारों के सूत्रधार भी होंगे, जिससे हमारी आपसी समझ और दोस्ती मजबूत होगी। मुझे इस बात की खुशी है कि भारत का कार्यक्रम वैश्विक स्तर पर ब्रिटिश सरकार की सबसे बड़ी पेशकश बना हुआ है और हम चेवेनिंग एलुमिनाई के नए बैच के साथ नवीन और स्थायी संबंध बनाने के लिए तत्पर हैं।

1983 में स्थापित चेवेनिंग ब्रिटेन सरकार की अंतर्राष्ट्रीय अवार्ड स्कीम है जिसका उद्देश्य वैश्विक नेताओं को तैयार करना है। विदेश एवं राष्ट्रमंडल कार्यालय और उसके सहयोगी संस्थानों द्वारा संचालित चेवेनिंग द्वारा दो तरह के अवॉर्ड्स की पेशकश की जाती है - चेवेनिंग स्कॉलरशिप और चेवेनिंग फैलोशिप - जिसको पाने वाले का चयन व्यक्तिगत रूप से दूतावास और उच्चायोग द्वारा दुनिया भर के प्रतिभागियों में से कठोर चयन प्रक्रिया के बाद किया जाता है। दो वर्ष के अनुभव रखने वाले उत्कृष्ट भारतीय स्नातकों को एक वर्षीय परास्नातक स्कॉलरशिप के अंतर्गत यूके के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय में उनके पसंद के किसी भी विषय को पढ़ने का अवसर दिया जाता है। एचएसबीसी द्वारा हर साल तीन स्कॉलरों को पर्यावरण और दीर्घकालिकता (सस्टेनेबिलिटी) से संबंधित क्षेत्रों में अध्ययन करने के लिए प्रायोजित किया जाता है।

शुरू हो चुके कार्यक्रमों में शामिल हैं:

चेवेनिंग स्कॉलरशिप

चेवेनिंग स्कॉलरशिप उत्कृष्ट और उभरते हुए नेतृत्वकर्ताओं को यूके के किसी विश्वविद्यालय में एक साल का मास्टर्स करने के लिए दिया जाता है। इसके अंतर्गत अत्यधिक सम्मानित और प्रभावशाली चेवेनिंग ग्लोबल नेटवर्क का हिस्सा बनने का अवसर मिलता है और वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाती है। भारत के आवेदक अध्ययन के किसी भी पाठ्यक्रम का चयन कर सकते हैं, लेकिन हम विशेष तौर पर ऊर्जा सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, शहरी विकास, रक्षा, सुरक्षा, विदेश नीति, व्यापार एवं निवेश, आर्थिक परिवर्तन के साथ साथ शोध और नवोन्मेष जैसे क्षेत्रों से आवेदकों का स्वागत करते हैं।

आवेदन की तिथि 7 अगस्त 2017 - 7 नवंबर 2017 तक
अकादमिक वर्ष सितंबर 2018 - अगस्त 2019 तक

चेवेनिंग फैलोशिप

चेवेनिंग फैलोशिप विशेष रूप से निर्मित, पेशेवर विकास कार्यक्रम है जिसे विशिष्ट क्षेत्र में अपनी जानकारी और विशेषज्ञता को बढ़ाने की इच्छा रखने वाले मध्यम से वरिष्ठ स्तर पेशेवरों के लिए बनाया गया है। ये कार्यक्रम पूर्निर्मित लघु समयावधि पाठ्यक्रम हैं जो आमतौर पर यूके के नामित विश्वविद्यालय में 8-12 सप्ताह तक चलते हैं।

निम्न फैलोशिप के लिए 7 अगस्त 2017 से 27 सितंबर 2017 तक आवेदन किया जा सकता है:

चेवेनिंग साइबर सिक्योरिटी फेलोशिप

चेवेनिंग साइबर सिक्योरिटी फेलोशिप का उद्देश्य भारत में साइबर सुरक्षा या साइबर नीति के क्षेत्र में प्रत्यक्ष नेतृत्व की संभावना वाले मिड-करियर भारतीय पेशेवरों तक पहुंचना है। यह कार्यक्रम 2014 से चल रहा है। हर साल छह भारतीय छात्रों को यूनाइटेड किंगडम की डिफेंस अकादमी में स्थित क्रेनफील्ड यूनिवर्सिटी दस हफ्ते के पूरी तरह से वित्त पोषित आवासीय कार्यक्रम के लिए भेजा जाता है।

हम भारत सरकार, भारतीय पुलिस सेवा, एकेडमिक, लीगल प्रोफेशन, एंटरप्रेन्योर और इंडस्ट्री से छात्रों को लेते हैं। यह पाठ्यक्रम भारतीय साइबर विशेषज्ञों के एक छोटे लेकिन महत्वपूर्ण समूह को इस विषय पर प्रोफेशनल ट्रेनिंग लेने में सक्षम बनाता है जिससे कि वे बेहतरीन ब्रिटिश कार्यप्रणाली को समझ सकते हैं। इससे दोनों देशों के बीच आपसी समझ को विकसित करने और साइबर सुरक्षा खतरों को कम करने में काफी मदद मिलेगी।

आवेदन की तिथि 7 अगस्त से 27 सितंबर 2017 तक
कार्यक्रम की शुरूआत मार्च 2018 से

चेवेनिंग रॉल्स-रॉयस साइंस एंड इनोवेशन लीडरशिप फेलोशिप (सीआरआईएसपी)

सीआरआईएसपी की शुरूआत 2011 में हुई थी और तभी ये इसे रॉल्स रॉयस के साथ मिलकर चलाया जा रहा है। दस हफ्ते के इस कार्यक्रम को उच्च योग्यताप्राप्त मध्यम करियर पेशेवरों के लिए डिज़ाइन किया गया है और सेंट क्रॉस कॉलेज, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में इसे चलाया किया जाता है। हर साल बारह भारतीय और दो श्रीलंकाई छात्रों को सावधानीपूर्वक इसके लिए चुना जाता है। वे जननीति से जुड़े जनप्रशासन, व्यवसाय, प्रौद्योगिकी और प्रशासन, विनिर्माण और विज्ञान एवं नवोन्मेष जैसे क्षेत्रों में काम करते हैं और विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े होते हैं जिसमें ज्यादातर कॉर्पोरेट एग्जीक्यूटिव, एंटरप्रेन्योर, रिसर्च सांइटिस्ट, एकेडमिक और पब्लिक सेक्टर के के कर्मचारी होते हैं।

किशोर जयरामन, अध्यक्ष, रोल्स-रॉयस, भारत और दक्षिण एशिया:

चेवेनिंग रोल्स-रॉयस साइंस एंड इनोवेशन लीडरशिप फ़ेलोशिप (सीआरआईएसपी) सुदृढ़ व्यवसाय के आधार को अभियांत्रिकी और वैज्ञानिक मेधावी लोगों की एक श्रंखला बनाने के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाती है, जो भारत की प्रतियोगी धार को मजबूत कर सकती है। यह अगली पीढ़ी के नेताओं का समर्थन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो अपने योगदान से देश के आर्थिक और सामाजिक भविष्य की दिशा में पहले की तुलना में कुछ बेहतर करना चाहते हैं। पिछले सीआरआईएसपी विद्वानों ने अपने समुदाय को बढ़ाने के लिए अपना महत्वपूर्ण प्रदर्शन जारी रखा है और उन्हें समर्थन देकर हम सम्मान का अनुभव कर रहे हैं।

आवेदन कि तिथि 7 अगस्त - 27 सितंबर 2017 तक
कार्यक्रम की शुरूआत अप्रैल 2018 से

चेवेनिंग साउथ एशिया जर्नलिज्म फैलोशिप कार्यक्रम

चेवेनिंग साउथ एशिया जर्नलिज्म फैलोशिप कार्यक्रम की शुरूआत 2011 में हुई थी और इसे दक्षिण एशिया के योग्य पत्रकारों के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल और मालदीव पत्रकार शामिल हैं। इसके अंतर्गत महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दों और अंतरराष्ट्रीय स्थितियों (यूके के दृष्टिकोण सहित) का साक्ष्य-आधारित संदर्भ प्रदान और व्यावहारिक अनुभव प्रदान किया जाता है और प्रमुख मुद्दों पर बातचीत के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

वेस्टमिंस्टर विश्वविद्यालय में आठ हफ्ते के इस फुली फंडेड रेजिडेंशियल कार्यक्रम को भावी मीडिया लीडर्स और भारत में राजनीतिक, आर्थिक और व्यापारिक पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने वाले विचार निर्माताओं के लिए कस्टमाइज्ड किया गया है। यह कार्यक्रम बदलती दुनिया में सुशासन पर केंद्रित है: मीडिया, राजनीति और समाज। इसके लिए अंग्रेजी की अच्छी समझ आवश्यक है लेकिन हम स्थानीय और गैर-पारंपरिक मीडिया से ऐसे आवेदकों को प्रोत्साहित करते हैं जो अपनी क्षमता और दृष्टिकोण को प्रदर्शित कर सकें।

आवेदन कि तिथि 7 अगस्त - 27 सितंबर 2017 तक
कार्यक्रम की शुरुआत मार्च 2018 से

चेवेनिंग स्टैंडर्ड चार्टर्ड फाइनेंशियल सर्विसेज फैलोशिप

इस कार्यक्रम को जोखिम प्रबंधन, जीवनांकिकी, और वित्तीय विनियमन जैसे कौशल में विशेषज्ञता को बनाने के लिए तैयार किया गया है जिससे भारतीय बाजार में टैलेंट पूल को और इस क्षेत्र के विकास को बढ़ावा मिलेगा।

फैलो अपने प्रभाव के प्रोफेशनल पोजिशन पर लौट आएगा और दोनों देशों के बीच सहयोग को मजबूत करने के लिए यूके के साथ अपने संबधों को जारी रखेगा। इस फैलोशिप के अंतर्गत हाई क्वालिटी के प्रोफेशनल डेवलपमेंट की पेशकश की जा रही है जिससे इनोवेशन को प्रोत्साहित करने के लिए विशेषज्ञ कौशल प्रदान करेगा और भारत में उद्योग क्षमता को सुधारने में मदद करेगा। छात्रों को वित्तीय विनियमन का वैल्यू ऑफ कॉस्ट-बेनिफिट प्रोत्साहन भी मिलेगा और वह यहां से यूके के सकारात्मक प्रभाव के साथ जाएंगे।

इस फैलोशिप को फाइनेंशियल सेक्टर में काम करने वाले आठ हाई रैकिंग मिड करियर प्रोफेशनल्स के लिए डिज़ाइन किया गया है जो वित्त मंत्रालय और संबद्ध संस्थाओं, भारतीय रिजर्व बैंक, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड, बीमा विनियमन और विकास प्राधिकरण, पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण, प्रभावशाली शिक्षाविद, थिंक टैंक, उद्यमियों, विशेष रूप से फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी और एसेट मैनजमेंट जैसे क्षेत्रों में सशक्त रूप से योगदान कर सकते हैं।

आवेदन की तिथि 7 अगस्त -27 सितंबर 2017 तक
कार्यक्रम की शुरूआत अप्रैल 2018 से

चेवेनिंग स्टैंडर्ड चार्टर्ड फाइनेंशियल सर्विसेज फैलोशिप के लिए यहां ऑनलाइन आवेदन करें।

मीडिया संबंधित जानकारियों के लिए कृपया चेवेनिंग की वेबसाइट देखें।

मीडिया

मीडिया से संबंधित जानकारी के लिए कृपया संपर्क करें:

स्टुअर्ट एडम्, प्रमुख
प्रेस और संचार
ब्रिटिश उच्चायोग, चाणक्यपुरी
नई दिल्ली 110021
फोन: 44192100; फैक्स: 24192411

मेल करें: सक्ति इडामारुकु

हमें फॉलो करें Twitter, Facebook, Flickr, Storify, Eventbrite, Blogs, Youtube, Instagram, Snapchat @UKinIndia, Periscope @UKinIndia

Published 8 अगस्त 2017